यूनानी डे: यूनानी दवाओं को अपनाएं अंग्रेज़ी दवाओं से रहें दूर। डॉ शाहिद खान

 

रिपोर्टर, अब्दुर्रहीम शेख़।

जौनपुर: नगर के अकबर पैलेस में वर्ल्ड यूनानी डे के सम्बंध में जौनपुर यूनानी डॉक्टर्स एसोसिएशन द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें नगर के समस्त यूनानी डॉक्टरों ने शिरकत किया। प्रोग्राम की शुरुआत डॉ हाफ़िज़ अरसलान ने तिलावत ए कलाम पाक से किया। सर्वप्रथम जौनपुर यूनानी डॉक्टर्स एसोसिएशन ने नगर में लगभग 20 सालों से यूनानी फील्ड में अपनी ख़िदमात को अंजाम देने वालों चिकित्सकों हकीम रईस आलम,डॉ इरफ़ान,डॉ शाहिद खान,हकीम अल्ताफ़ को अंगवस्त्र व मोमेंटो पेश करके उन्हें सम्मानित किया गया प्रोग्राम का संचालन डॉ अर्शी नवाज़ खान ने किया।

प्रोग्राम को संबोधित करते हुए वरिष्ठ डॉ शाहिद खान ने बताया कि यूनानी डे हकीम अजमल खान के जन्मदिन के अवसर पर मनाया जाता है और जौनपुर में यूनानी डे पर पहली बार प्रोग्राम का आयोजन किया गया है इसके लिये जौनपुर यूनानी डॉक्टर्स एसोसिएशन के समस्त पदाधिकारी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि मैं सभी से अपील करता हूं कि यूनानी दवाओं को अपनाएं और अंग्रेज़ी दवाओं से दूर रहें क्योंकि यूनानी इलाज करने से बीमारी जड़ से ख़त्म हो जाती है।डॉ एख़लाक़ खान ने कहा कि कोरोना काल में यूनानी दवाओं ने बहुत ही महत्वपूर्ण किरदार अदा किया था आज लोग जो यूनानी इलाज से दूर हो रहे हैं उसका एकमात्र कारण है सरकार का ध्यान न देना अगर आज सरकार ध्यान देना शुरू करदे तो पुनः यूनानी इलाज जीवित हो सकता है। डॉ अर्शी नवाज़ खान ने कहा कि दवाओं में यूनानी दवाएं ही सफल हैं और माडर्न इलाज में सर्जरी कामयाब है और यूनानी दवाओं से किसी भी प्रकार की हानि जिस्म पर नहीं होती है सबसे अहम बात कि ये बीमारी को जड़ से समाप्त करदेती है।इस अवसर पर डॉ ख़ालिद अफ़ज़ाल,डॉ दानिश,डॉ शारिक,डॉ ओसामा,डॉ हस्सान महमूद,डॉ शाहिद,डॉ दानिश,डॉ शमीम,डॉ अज़मत,डॉ शमसुज़्ज़मां,डॉ हारिस,डॉ अदनान,डॉ राशिद,डॉ अख्तर सईद,डॉ नूर,डॉ तबरेज़,डॉ अक़दस,डॉ अय्यूब,डॉ शोएब आदि उपस्थित रहे अंत में डॉ एज़ामुद्दीन ने आये हुए समस्त डॉक्टरों के प्रति आभार व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button