आंकड़ों व शब्दों का मायाजाल था राजस्थान सरकार का बजट : गोविंद सिंह डोटासरा

जयपुर, 10 जुलाई: राजस्थान की भजनलाल शर्मा सरकार ने विधानसभा में अपना पहला आम बजट पेश कर दिया है। वित्त मंत्री दीया कुमार ने बजट पेश किया। इसमें नौकरियों से लेकर सरकार की योजना से संबंधित कई बड़े ऐलान किए गए।

राजस्थान सरकार के बजट पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने भजनलाल शर्मा सरकार के बजट को निराशाजनक बताया। उन्होंने कहा कि आज विधानसभा में बहुत ही निराशाजनक बजट प्रस्तुत किया गया। यह आंकड़ों और शब्दों का मायाजाल है। ढाई तीन घंटे उन्होंने सदन में बोला, लेकिन बोलने वाले को भी पता नहीं कि उन्होंने क्या कहा है। किसी के समझ में ये बजट नहीं आया और ये भी पता नहीं चला है कि ये सरकार क्या कोई जनहितैषी योजना को कोई लेकर आई है।

गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि उनकी सरकार में 25 लाख का इलाज मिल रहा था। इनका क्या विजन है, फिर से आयुष्मान भारत के तहत पांच लाख रुपये के इलाज की बात कही है। इस प्रकार गरीब को 20 लाख रुपए का घाटा हो गया है। कृषि मंत्री सदन में मौजूद नहीं थे, लेकिन वहां कृषि पर भाषण दिया जा रहा था। बजट में कृषि मंत्री के विजन को शामिल नहीं किया गया।

उन्होंने कहा कि इस बजट में किसान और नौजवान की बात नहीं की गई। चार लाख नौकरी देने की बात कही गई है, लेकिन हमारी सरकार ने जिन्हें नौकरी दी थी, उन्हें ही अभी तक ज्वाइन नहीं कराया गया है। ये सरकार नए लोगों को कैसे नौकरी दे देगी। पूरा बजट आंकड़ों और शब्दों का मायाजाल था। इस सरकार ने ढाई-तीन घंटे तक सदन का समय बर्बाद किया और राजस्थान को कुछ नहीं दिया। बजट में राजस्थान को आगे ले जाने का कोई विजन नहीं था। उन्होंने कहा कि बजट भाषण की सबसे बड़ी उपलब्धि ये है कि इसमें पीएम मोदी और सीएम भजनलाल शर्मा का 20-20 बार नाम आ गया।

Related Articles

Back to top button